smajh me nhi aata

smajh me nhi aata

समझ में नहीं आता यकीन किस पर किया जाये
गला भाई भी दुसमन से मिल कर काट लेता है
बुलंदी पर पहुचने की दुआ किस के लिए मांगों
जिसे सर पर बैठता हूँ वही सर काट लेता है

Love Shayari In Hindi