Shayari Images HD Shayari Photo Wallpaper

Har Aahat Par Saanse Lene Lagta Hai,
Intezaar Bhi Bhala Kabhi Marta Hai.
हर आहट पर साँसें लेने लगता है,
इंतज़ार भी भला कभी मरता है।

Shayari Images

Shayari Images

Jaate-Jaate Uske Aakhiri Alfaz Yahi The,
Jee Sako Toh Jee Lena Mar Jaao Toh Behtar Hai.
जाते-जाते उसके आखिरी अल्फाज़ यही थे,
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।

Chalo Dil Ki Adla-Badli Kar Lein,
Tadap Kya Hoti Hai Samajh Jaoge.
चलो दिल की अदला-बदली कर लें,
तड़प क्या होती है समझ जाओगे।

Ishtehaar De Do Ke Ye Dil Khali Hai,
Wo Jo Aaya Tha Kirayedaar Nikla.
इश्तेहार दे दो कि ये दिल खाली है,
वो जो आया था किरायेदार निकला।

Woh Na Aayega Humein Malum Tha Iss Shaam Bhi,
Intzaar Uska Magar Kuchh Soch Kar Karte Rahe.
वो न आएगा हमें मालूम था इस शाम भी,
इंतज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे।

Aankho Ne Jarre-Jarre Par Sajde Lutaye Hain,
Kya Jaane Ja Chhupa Hai Mera PardaNashin Kahan.
आँखों ने जर्रे-जर्रे पर सजदे लुटाये हैं,
क्या जाने जा छुपा मेरा पर्दानशीं कहाँ।

Shayari Images HD

Shayari Images HD

Log Muntzir Hi Rahe Ke Humein Toota Hua Dekhein,
Aur Hum The Ke Dard Sahte-Sahte Patthar Ke Ho Gaye.
लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि दर्द सहते-सहते पत्थर के हो गए।

Jaane-Tanha Pe Gujar Jayein Hajaro Sadmein,
Aankh Mein Ashq Bhi Aayein Yeh Jaroori To Nahi.
जाने-तन्हा पे गुजर जायें हजारो सदमें,
आँख में अश्क भी आयें ये जरूरी तो नहीं।

Wahan Se Paani Ki Ek Boond Bhi Na Nikli,
Tamaam Umr Jin Aankhon Ko Jheel Likhte Rahe.
वहाँ से पानी की एक बूँद भी न निकली,
तमाम उम्र जिन आँखों को झील लिखते रहे।

Piro Diye Mere Aansoo Hawa Ne Shaakhon Mein,
Bharam Bahaar Ka Waaki Raha Aankhon Mein.
पिरो दिये मेरे आँसू हवा ने शाखों में,
भरम बहार का वाकी रहा आँखों में।

Tujhe Bahut Kaha Tha Ke Mujhe Apna Na Bana,
Ab Dil Mera Tod Kar Mera Tamasha Na Bana.
तुझसे बहुत कहा था कि मुझे अपना न बना,
अब दिल मेरा तोड़ कर मेरा तमाशा न बना।

Shayari Photos

Shayari Photos

Jab Likh Hi Diya Hai Tu Ne Mera Naam Ret Par,
Mitne Ka Fir Mere Tu Tamasha Bhi Dekh Le.
जब लिख ही दिया है तूने मेरा नाम रेत पर,
मिटने का फिर मेरे तू तमाशा भी देख ले।

Sukoon Na De Sakin Rahatein Zamane Bhar Ki,
Jo Neend Aayi Tere Gham Ki Chhaon Mein Aayi.
सुकून न दे सकीं राहतें ज़माने भर की,
जो नींद आई तेरे ग़म की छाँव में आई।

Ab Toh Meri Aankh Mein Ek Ashq Bhi Nahi,
Pahle Ki Baat Aur Thi Gham Tha Naya Naya.
अब तो मेरी आँख में एक अश्क भी नहीं,
पहले की बात और थी ग़म था नया नया।

Peete The Sharab Hum Usne Chhudayi Apni Kasam Dekar,
Mehfil Mein Yaaron Ne Pila Di Usi Ki Kasam Dekar.
पीते थे शराब हम उसने छुड़ाई अपनी कसम देकर,
महफ़िल में यारों ने पिलाई उसी की कसम देकर।

Ye Na Poochh Main Sharabi Kyun Hua, Bas Yoon Samajh Le,
Ghamo Ke Bojh Se, Nashe Ki Botal Sasti Lagi.
ये ना पूछ मैं शराबी क्यूँ हुआ, बस यूँ समझ ले,
गमों के बोझ से, नशे की बोतल सस्ती लगी।

HD Shayari

HD Shayari

Woh Har Baar Mujhe Chhod Ke Chali Jati Hai Tanha,
Main Mazboot Bahut Hoon Lekin Patthar Toh Nahi Hoon.
वो हर बार मुझे छोड़ के चली जाती है तन्हा,
मैं मज़बूत बहुत हूँ लेकिन कोई पत्थर तो नहीं हूँ।

Kuchh Kar Gujarne Ki Chaah Mein Kahan Kahan Se Gujre,
Akele Hi Najar Aaye Hum Jahan-Jahan Se Gujre.
कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,
अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे।

Ye Jo Patthar Hai Aadmi Tha Kabhi,
Iss Ko Kahte Hain Intezar Miyaan.
ये जो पत्थर है आदमी था कभी,
इस को कहते हैं इंतज़ार मियां।

Takleef Ye Nahin Ke Tumhein Azeez Koi Aur Hai,
Dard Tab Hua Jab NajarAndaz Koye Gaye.
तकलीफ ये नहीं कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
दर्द तब हुआ जब हम नजरंदाज किए गए।

Hindi Shayari Image

Hindi Shayari Image

Tod Diye Maine Ghar Ke Aayine Sabhi,
Pyar Mein Haare Huye Log Mujhse Dekhe Nahi Jate.
तोड़ दिए मैंने घर के आईने सभी,
प्यार में हारे हुए लोग मुझसे देखे नहीं जाते।

Aaj Ashq Se Aankhon Mein Kyun Aaye Hue,
Gujar Gaya Hai Zaman Tujhe Bhulaye Hue.
आज अश्क से आँखों में क्यों हैं आये हुए,
गुजर गया है ज़माना तुझे भुलाये हुए।

Tu Ishq Ki Doosari Nishani De De Mujhko,
Aansoo Toh Roj Gir Ke Sookh Jate Hain.
तू इश्क की दूसरी निशानी दे दे मुझको,
आँसू तो रोज गिर कर सूख जाते हैं।

Le Gaya Chheen Ke Kaun Aaj Tera Sabr-o-Qaraar,
Be-Qaraari Tujhe Ai Dil Kabhi Aisi Toh Na Thi.
ले गया छीन के कौन आज तेरा सब्र-ओ-करार,
बेक़रारी तुझे ऐ दिल कभी ऐसी तो न थी।

Maanind-e-Shama Yoon Toh Jale Hain Tamaam Umar.
Lekin Humaare Dil Ke Andhere Na Kam Huye.
मानिंद-ए-शमां यूँ तो जले हैं तमाम उम्र,
लेकिन हमारे दिल के अँधेरे न कम हुए।